बाबुल सुप्रिय का संक्षिप्त जीवन परिचय

पूरा नामबाबुल सुप्रियो बरल (बाबुल सुप्रियो)
जन्म तिथि15 दिसंबर 1970
जन्म स्थानउत्तरपारा, पश्चिम बंगाल
पार्टी का नामतृणमूल कांग्रेस
शिक्षास्नातक
व्यवसायगायक फिल्म कलाकार, संगीतकार
पिता का नामश्री सुनील चंद्र बरल
माता का नामश्रीमती सुमित्रा बरल
पत्नी का नामरचना शर्मा
संतान2 पुत्री

बाबुल सुप्रिय की जीवनी

बाबुल सुप्रिय का जन्म 15 दिसम्बर 1970 को पश्चिम बंगाल के एक छोटे से शहर में हुआ था। बाबुल सुप्रिय भारतीय पार्श्वगायक, जीवन्त कलाकार, टेलीविजन होस्ट, अभिनेता, राजनेता और आसनसोल से संसद के सदस्य हैं। डॉन बोस्को लिलाह में अपनी स्कूली शिक्षा पूरी करने के बाद, उन्होंने कलकत्ता विश्वविद्यालय से वाणिज्य में स्नातक की डिग्री अर्जित की । भारत की सोलहवीं लोकसभा में सांसद थे। 2014 के चुनावों में इन्होंने पश्चिम बंगाल की आसनसोल सीट से भारतीय जनता पार्टी की ओर से भाग लिया और जीते। पूर्णकालिक कैरियर के रूप में गायन करने से पहले, उन्होंने स्टैण्डर्ड चार्टर्ड बैंक में कुछ दिन काम किया। 

2014 में भाजपा के उम्मीदवार के रूप में राजनीति में प्रवेश किया और लोकसभा चुनावों में अपना पहला चुनाव जीता । उन्हें शहरी विकास मंत्रालय, आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाया गया था। फिर उनको भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय का भार दिया गया। उन्होंने 2014 में राजनीति में प्रवेश किया और नरेंद्र मोदी की सरकार में शामिल हुए। बाद में उन्होंने अपने सांसद पद से भी इस्तीफा था।

उन्होंने हिंदी सिनेमा में पार्श्व गायक के रूप में अपना करियर बनाया और तब से कई फिल्मों के लिए गाने गाए। वह मुख्य रूप से हिंदी और बांग्ला में गाते हैं हालांकि उन्होंने अपने संगीत कैरियर के दौरान 11 अन्य भाषाओं में भी पार्श्व गायन किया है।

बाबुल सुप्रिय रोचक तथ्य :- 

फिल्मी जगत में आने से पहले बाबुल सुप्रीयो ने अपना नाम सुप्रीयो बरल से बदल कर रख लिया। 1 99 2 में मुंबई जाने के बाद, उन्हें कल्याणजी ने अपना पहला ब्रेक दिया, जिसके बाद उन्होंने आशा भोंसले और अमिताभ बच्चन के साथ लाइव शो के लिये संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा जैसे देशों का दौरा किया।  

फिल्मी जगत में आने से पहले ही बाबुल सुप्रियो ने अपना नाम बदल लिया था। उन्होंने अपने नाम से पिता का सरनेम बरल को हटा दिया। 1992 में मुंबई आने के बाद उन्होंने कल्याणजी ने पहला ब्रेक दिया । बाबुल सुप्रियो ने गायिका आशा भोंसले और अभिनेता अमिताभ बच्चन के साथ अमेरिका और कनाडा में लाइव शो भी किया।

बाबुल सुप्रिय की अपलब्धिया 

2014 में चुनाव जीतने के बाद, वह एनडीए सरकार में सबसे कम उम्र के मंत्री बने, क्योंकि वह शहरी विकास मंत्रालय, आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय में राज्य मंत्री बने। उन्हें स्टेट काउंसिल ऑफ अटलांटा द्वारा मानद नागरिकता से सम्मानित किया गया था। उन्होंने प्रतिष्ठित ज़ी गोल्ड अवॉर्ड सहित अपने गायन कैरियर के दौरान कई पुरस्कार जीते हैं। 

बाबुल सुप्रियो बरल का राजनीतिक करियर

मई 2014 में बीजेपी की टिकट पर चुनाव लड़े और जीते

• 1 सितंबर 2014 से 9 नवंबर 2014 तक परिवहन, पर्यटन और संस्कृत समिति के सदस्य रहे।

9 नवंबर 2014 से 12 जुलाई 2016 तक केंद्रीय राज्य मंत्री, शहरी विकास मंत्रालय, और आवास और शहरी गरीबी उन्मूलन मंत्रालय

• 12 जुलाई 2016 से 2021 तक केंद्रीय राज्य मंत्री, भारी उद्योग और सार्वजनिक उद्यम मंत्रालय में रहे।

बाबुल सुप्रियो की संपत्ति

बाबुल सुप्रियो की शुद्ध संपत्ति 6.05 करोड़ है। Total Income की बात की जाए तो सम्पत्ति 7.53 करोड़ और उत्तरदायित्व के रूप में 1.47 करोड़ है।

Leave a Comment

Your email address will not be published.